भारतीय भेषजसंहिता (आई.पी.) में उल्लिखित माइक्रोबायोलॉजिकल विश्लेषण के संबंध में आईपीसी की सूक्ष्मजैविकी विभाग विभिन्न मापदंडों पर काम कर रहा है। सूक्ष्मजैविकी विभाग की प्रमुख गतिविधियां में आईपी में सामान्य अध्यायों और मोनोग्राफ के उन्नयन और इसके अलावा शामिल हैं; आईपीआरएस (एंटीबायोटिक) के सूक्ष्मजीवविज्ञान विश्लेषण, नए औषध नमूने (एनडीएस), अंतर प्रयोगशाला तुलना (आईएलसी) के नमूनों और विविध स्रोतों से प्राप्त विविध औषध नमूने।

माइक्रोबायोलॉजी डिवीज़न जैविक परीक्षण के लिए एनएबीएल की मान्यता प्राप्त है और कोएनेटिक टर्बिडीमेट्रिक एनालाइज़र (केटीए), बैक्टीरियल एन्डोटॉक्सिन टेस्ट, यूवी-स्पेक्ट्रोफोटोमीटर, एयर सैंपलर, जैव-सुरक्षा कैबिनेट, अल्ट्राट्रैप्रूज, इनवर्टेड माइक्रोस्कोप के लिए पोर्टेबल टेस्ट सिस्टम (पीटीएस) जैसे परिष्कृत उपकरणों से लैस है। दीप फ्रीजर (- 80oC और -20oC), आई-फ्लैंकिंग मशीन, सर्जिकल वॉटर स्नान आदि। सूक्ष्मजैविकी प्रयोगशाला में निम्नलिखित सूक्ष्मजैवीय परीक्षणों के लिए बहुत अच्छी सुविधा है।

  •  सूक्ष्मजैवीय परख
  •  गैर- जीवाणुरहित दवा उत्पादों की सूक्ष्मजैवीय प्रदूषण परीक्षा
  •  बैक्टीरियल एंडोटोक्सिन परीक्षण (गुणात्मक और मात्रात्मक)
  •  जीवाणुरहिणता परीक्षण
  •  संरक्षक प्रभावकारिता परीक्षण

नवीनतम समाचार


सभी देखें

आईपीसी उत्पाद

 
आईपीसी से जुड़ें